Booting क्या है। Booting के प्रकार

पिछले Article में हमने Operating System की basic जानकारी के बारे में सीखा था। यदि आपने अभी तक उस Article को Read नही किया है। तो यहाँ नीचे Click करके उसे Read कर सकते है।
Operating System tutorial in Hindi
Booting Operating System Learning का काफी ज्यादा महत्वपूर्ण Topic है। जिसके बारे में आप यहाँ सीखेंगे।


Booting क्या है

जब हम Computer को on करते हैं। तो उसमें एक Process चलती है, जिसे Booting कहा जाता है Booting Computer के सभी Hardware और Software तथा उससे जुड़ी हुई सभी Files यानी पूरे Computer System को check करता है, और उन सभी Files को load करता है।

Booting Process कैसे होती है|

जब Computer की Power Button Press करते है। तो सबसे पहले CPU BIOS के साथ मिलकर System को शुरू करने का Signal मांगता है। तब BIOS POST Process के माध्यम से Computer Hardware Error आदि की जाँच करता है।
BIOS
RAM
Memory
Hard Drive
Ports
Keyboard/Mouse

यदि इन Checking के दौरान कोई भी Error पाया जाता है। तो उसे Display पर Show करता है। और यदि ये process सफलतापूर्वक पूरी हो जाती है(इसे Valid Volume Boot Sector के नाम से जाना जाता है) तो Booting Process शुरू हो जाती है। Booting Process में ROM Chip में Store सभी File, Hardware Driver आदि Load होते हैं, तथा वे सभी Files Load होती है, जो System को चलाने में आवश्यक है।

Booting के प्रकार

Booting Process दो प्रकार की होती है

1. Warm Booting

जब हम Computer को Start करते है, तो उस समय Booting Process होती है। उसे Warm Booting कहते हैं। ये एक शुरुआती Booting Process होती है। जब हम Power Button Press करते हैं Beginning Level पे, तो Warm Booting Process होती है।

2. Cold Booting

ये Automatically Booting Process है, System on होने पर जब Restarting Process होती है। उसे Cold Booting के नाम से जानते है।


No comments

Powered by Blogger.